भारतीय संविधान से जुड़े हुए 14 बेहद रोचक तथ्य (14 interesting facts related to Indian constitution)

भारतीय संविधान भारत का सर्वोच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवंबर 1949 को पारित हुआ था तथा 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था। 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान दिवस घोषित किया गया था तथा 26 जनवरी 1950 को भारत का गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। भारत का संविधान विश्व के किसी भी गण तांत्रिक देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है।

दोस्तों, आज हम भारतीय संविधान से जुड़े कुछ बेहद रोचक तथ्य आपके साथ शेयर कर रहे हैं आपको यह रोचक तथ्य कैसे लगते हैं हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर अवश्य बताएं
तथ्य-1 “भारत के मूल संविधान को प्रेम बिहारी नारायण रायज़ादा द्वारा सुंदर सुलेख के साथ इटैलिक शैली में लिखा गया था, और शान्तिनिकेतन के कलाकारों द्वारा प्रत्येक पृष्ठ को सुशोभित और सजाया गया था।”-रोचक तथ्य

“The original Constitution of India was handwritten by Prem Behari Narain Raizada in a flowing italic style with beautiful calligraphy. Each page was beautified and decorated by artists from Shantiniketan.”
तथ्य-2 “हिंदी और अंग्रेजी में लिखी गई भारतीय संविधान की मूल प्रतियों को भारतीय संसद की लाइब्रेरी में विशेष हीलियम से भरी संदुक में रखा जाता है।”-रोचक तथ्य

“The original copies of the Indian Constitution, written in Hindi and English, are kept in special helium-filled cases in the Library of the Parliament of India.”
तथ्य-3 “448 लेखों और 12 अनुसूचियों वाले 25 भागों के साथ, भारतीय संविधान दुनिया में किसी भी संप्रभुता वाले देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है।”-रोचक तथ्य

“With 25 parts containing 448 articles and 12 schedules, the Indian Constitution is the longest written Constitution of any sovereign country in the world.”
तथ्य-4 “संविधान सभा, जो पहली बार 9 दिसंबर, 1946 को बुलायी गई थी, को अंतिम संविधान प्रारूप के साथ आने में 2 साल, 11 महीने और 18 दिन का समय लगा।”-रोचक तथ्य

“The Constituent Assembly, which first met on December 9, 1946, took precisely 2 years, 11 months and 18 days to come up with the final draft.”
तथ्य-5 “जब संविधान प्रारूप तैयार किया गया था और बहस और चर्चा के लिए रखा गया था, तब इसमें अंतिम रूप देने से पहले 2000 से अधिक संशोधन किए गए थे।”-रोचक तथ्य

“When the draft was prepared and put for debate and discussion, over 2000 amendments were made, before it was finalised.”
तथ्य-6 “26 नवंबर, 1949 को संविधान का प्रारूपण आखिरकार पूरा हुआ। लेकिन, इसे 26 जनवरी, 1950 को दो महीने के बाद ही कानूनी रूप से लागू किया गया था। जिसे गणतंत्र दिवस के रूप में जाना जाता है।”-रोचक तथ्य

“The drafting of the Constitution was finally complete on 26th November, 1949. But, it was legally enforced only after two months on 26th January, 1950. Which came to be known as the Republic Day.”
तथ्य-7 “24 जनवरी, 1950 को संविधान सभा के 284 सदस्यों द्वारा हस्तलिखित संविधान पर हस्ताक्षर किए गए, जिसमें 15 महिलाएँ शामिल थीं। यह दो दिन बाद 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था।”-रोचक तथ्य

“The handwritten Constitution was signed on 24th January, 1950, by 284 members of the Constituent Assembly, which included 15 women. It came into force two days later on 26th January.”
ये भी पढ़े: डॉ. भीमराव अंबेडकर के 25+ महान प्रेरक विचार। (Great Thoughts by Dr. Bhimrao Ambedkar)
तथ्य-8 “हमारे संविधान निर्माताओं ने हमारे देश के संविधान का प्रारूपण करते समय विभिन्न अन्य संविधानों से मदद ली थी, यही कारण है कि भारतीय संविधान को अक्सर उधार का बैग कहा जाता है।”-रोचक तथ्य

“Our Constitution makers took inspiration from various other Constitutions while drafting the one for our country, which is why the Indian Constitution is often called a bag of borrowings.”
तथ्य-9 “पंचवर्षीय योजनाओं (FYP) की अवधारणा USSR से ली गई थी, और निर्देशक सिद्धांत (सामाजिक-आर्थिक अधिकार) आयरलैंड से लिए गए थे।”-रोचक तथ्य

“The concept of Five Year Plans (FYP) was taken from the USSR, and the Directive Principles (socio-economic rights) were taken from Ireland.”
तथ्य-10 “हमारे प्रस्तावना में स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व के आदर्शों को फ्रांसीसी क्रांति से लिया गया है, जो कि फ्रांसीसी आदर्श वाक्य भी है।”-रोचक तथ्य

“The ideals of Liberty, Equality and Fraternity in our Preamble have been taken from the French Revolution, which is also the French motto.”
तथ्य-11 “हमारे संविधान की प्रस्तावना, संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान की प्रस्तावना से प्रेरित थी, जो “हम लोग” से भी शुरू होती है।”-रोचक तथ्य

“The Preamble to our Constitution was inspired by the Preamble to the Constitution of the United States of America, which also starts with “We the people”.
तथ्य-12 “हमारे संविधान द्वारा मान्यता प्राप्त मौलिक अधिकारों को भी अमेरिकी संविधान से अपनाया गया है। भारतीय संविधान अपने सभी नागरिकों के मूल मानवाधिकारों के रूप में नौ मौलिक अधिकारों को मान्यता देता है।”-रोचक तथ्य

“The fundamental rights recognized by our Constitution have also been adopted from the American Constitution. The Indian Constitution recognizes nine fundamental rights as the basic human rights of all its citizens.”
तथ्य-13 “दिलचस्प बात यह है कि शुरुआत में, संपत्ति का अधिकार भी मौलिक अधिकारों में से एक था। हमारे संविधान के अनुच्छेद 31 में कहा गया है कि, “कोई भी व्यक्ति कानून के अधिकार द्वारा अपनी संपत्ति बचाने से वंचित नहीं रहेगा।” हालांकि, 1978 में 44 वें संशोधन में इसे हटा दिया गया था।”-रोचक तथ्य

“Interestingly, in the beginning, the Right to Property was also one of the fundamental rights. The Article 31 of our constitution said that, “No person shall be deprived of his property save by authority of law.” However, the 44th Amendment, in 1978, deleted it.”
तथ्य-14 “भारतीय संविधान को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ संविधान के रूप में भी प्रतिष्ठित किया गया है क्योंकि इसे लागू करने के 62 वर्षों में, केवल 94 बार संशोधित किया गया था। अब तक, हमारे संविधान में कुल 100 संशोधन हुए हैं।”-रोचक तथ्य

“The Indian Constitution has also been hailed as one of the world’s best Constitution because in 62 years of its adoption, it had been amended only 94 times. As of now, our Constitution has undergone a total of 100 amendments.”
Recent Posts-
१. महात्मा गांधी के 35+ सबसे बेस्ट मोटिवेशनल सुविचार( 35+ Best Inspirational Quotes By Mahatma Gandhi)
२. उद्योगपति धीरूभाई अंबानी के 30+ सर्वश्रेष्ठ प्रेरक कथन
३. सुभाष चंद्र बोस के 20+ क्रांतिकारी विचार (20+ Inspirational Quotes for Freedom by Subhash Chandra Bose)
४. नरेंद्र मोदी के जिंदगी बदल देने वाले शक्तिशाली विचार (Life Changing Quotes by Narendra Modi
५. सकारात्मक सोच के 61 प्रेरक विचार स्वामी विवेकानंद द्वारा (61 Quotes of Positive Thinking by Swami Vivekananda)

Tags:, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.