skip to Main Content
STD-PCO से लेकर ImagesBazaar के CEO तक का सफर- संदीप माहेश्वरी

STD-PCO से लेकर ImagesBazaar के CEO तक का सफर- संदीप माहेश्वरी

नाम– संदीप माहेश्वरी

कंपनी का नाम– ImagesBazaar

स्थिति – Founder and CEO.

आयु – 38

जन्म तिथि – 28 सितंबर 1980

नागरिकता – नई दिल्ली

राष्ट्रीयता – भारतीय

वैवाहिक स्थिति: विवाहित

शिक्षा – बीकॉम
किरोडीमल कॉलेज
दिल्ली विश्वविद्यालय

व्यवसाय – उद्यमी & प्रेरक वक्ता

संदीप माहेश्वरी एक 38 वर्षीय सफल भारतीय बिजनेसमैन है। संदीप माहेश्वरी मोटिवेशनल सेमीनार(Motivational Seminar) तथा मोटिवेशनल भाषणों (Motivational Speeches) के कारण युवाओं में बेहद लोकप्रिय है। आम लोगों की तरह संदीप माहेश्वरी का बचपन भी संघर्षपूर्ण रहा था लेकिन कठिन परिश्रम तथा कुछ अलग कर गुजरने की चाह ने उन्हें एक बहुत बड़ा बिजनेसमैन बना दिया है।

संदीप माहेश्वरी का प्रारंभिक जीवन एवं शिक्षा(Early life and education of Sandeep maheshwari)

संदीप माहेश्वरी के पिता एल्युमीनियम के कारोबारी थे। संदीप माहेश्वरी की घरेलू व आर्थिक स्थिति उतनी अच्छी नहीं थी। संदीप के पिता का कारोबार भी आर्थिक संकटों व बाजारी मंदी के कारण ठप हो गया था। एक कारोबारी के पुत्र होने के कारण संदीप की सोच बचपन से ही एक कारोबारी की तरह थी। इसका एक बहुत अच्छा उदाहरण यह है कि संदीप माहेश्वरी के जन्मदिन पर उनके पिता ने उन्हें एक मोपेड गिफ्ट दिया था। इस मोपेड को संदीप ने अपने दोस्तों को Rent पर देना शुरू कर दिया तथा वह 1 दिन का ₹50 किराया लेते थे। इस प्रकार संदीप माहेश्वरी ने उसकी लागत कीमत (Original Price) से 4 गुना की कमाई कर ली थी। बचपन से ही संदीप माहेश्वरी के सोचने का दृष्टिकोण बहुत ही अलग था।

संदीप माहेश्वरी पढ़ाई में ज्यादा अव्वल नहीं थे इस वजह से पढ़ाई में मन नहीं लगता था। पिता के कारोबार के ठप हो जाने की वजह से 18 वर्ष की उम्र में ही परिवार की सारी आर्थिक जिम्मेदारियां उन पर आ गई थी। अपनी पढ़ाई के साथ-साथ संदीप ने एक कंपनी के साथ जुड़कर घरेलू प्रोडक्ट(Household Products) बेचने का कारोबार शुरू किया लेकिन यह कार्य ज्यादा दिन चल नहीं सका। इसके बाद संदीप ने STD-PCO चलाने का प्रयास भी किया लेकिन यह कार्य भी सफल नहीं हो पाया। इसके बाद संदीप ने Call Center तथा अन्य कंपनीयों में जॉब इंटरव्यू दिये लेकिन कहीं भी उनका चयन (Selection) नहीं हुआ। उस बुरे वक्त में संदीप को हर जगह निराशा ही हाथ लग रही थी।

संदीप माहेश्वरी का शुरुआती करियर (Starting career of Sandeep Maheshwari)

प्रथम घटना- संदीप माहेश्वरी को फोटोग्राफी (Photography) का बहुत शौक था। फोटोग्राफी शुरू करने के कुछ ही दिनों में उनके एक दोस्त ने उन्हें New Year Party Organize करने का ऑफर दिया। शुरुआती दिनों में काम नहीं मिलने की वजह से संदीप ने इस ऑफर को accept कर लिया। इस deal में शर्त यह थी कि उनका मित्र पैसा लगाएगा तथा देख-रेख की जिम्मेदारी संदीप पर होगी लेकिन अंतिम समय में संदीप का मित्र पीछे हट गया फिर भी संदीप ने पैसे उधार लेकर 2 महीने तक जमकर मेहनत कर event को सफल बनाया। उस इवेंट में करीब 800 लोग आए और event सफल रहा पर जब अंत में profit share करने की बात आई तो संदीप का मित्र सारे पैसे लेकर गायब हो गया और फिर कभी नहीं मिला। संघर्षपूर्ण समय में यह घटना संदीप के लिए बहुत बड़ा झटका था पर संदीप कहते हैं कि “सक्सेस एक्सपीरियंस से आती है और एक्सपीरियंस बेड एक्सपीरियंस से।”

वह इस घटना से जरा भी हताश नहीं हुए तथा उन्होंने इस घटना को enjoy करने का प्रयास किया।

“सफलता मिलती है अनुभवों से और अनुभव मिलते है ख़राब अनुभवों से”

– संदीप माहेश्वरी

द्वितीय घटना- फोटोग्राफी में अपने करियर की शुरुआत के दौरान ही संदीप एक Japan Life नाम की Multi Level Company के साथ जुड़ गए और उनकी तनख्वाह भी लगभग एक लाख तक हो गई थी। परंतु संदीप माहेश्वरी को दिल से अच्छी फीलिंग नहीं आ रही थी क्योंकि उन्हें लग रहा था कि लोग ठगे जा रहे हैं। अंततः उन्होंने इस job से भी इस्तीफा दे दिया। अब उन्होंने अपने साथ काम कर रहे तीन-चार दोस्तों के साथ मिलकर एक दूसरी MLM कंपनी शुरू की। इसके लिए वह दिन रात काम करने लग गए थे और खूब पैसा भी लगाया। शुरू में सब कुछ ठीक रहा तथा 6 महीने में 1100 से लोगों ने join भी कर लिया परंतु उसके बाद पार्टनर्स में हुई किसी कलह (dispute) की वजह से कंपनी बंद हो गई और अब Japan Life भी नहीं थी। संदीप एक बार फिर से जीरो पर थे।

तीसरी घटना-

जब संदीप MLM में भी फेल हो गए और फोटोग्राफी में भी संघर्ष चल रहा था तभी उन्हें एक आईडिया आया कि उन्हें marketing का अच्छा knowledge है तो क्यों ना मार्केटिंग पर एक बुक लिखी जाये। इस बुक की खासियत यह थी कि इस की शुरुआत अंतिम पेज से होती थी। इस प्रकार 20 वर्ष की उम्र में संदीप ने एक बुक लिख डाली परंतु इस बुक को खरीदने में किसी ने भी दिलचस्पी नहीं दिखाई। बुक की 1000 copies में से करीब 150 copies ही बिकी बाकी बुक्स को कबाड़ में बेचना पड़ा। यह घटना संदीप माहेश्वरी की तीसरी असफलता थी पर फिर भी संदीप यहीं नहीं रुके।

संदीप माहेश्वरी की जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट (Turning point in Sandeep Maheshwari’s Life)

19 वर्ष की उम्र में संदीप माहेश्वरी की जिंदगी में सबसे बड़ा बदलाव तब आया जब उनके दोस्त ने उन्हें एक MLM कंपनी के seminar में चलने के लिए बोला seminar में संदीप को 3 घंटे तक तो कुछ समझ नहीं आया लेकिन जब एक 21 साल के लड़के ने अपने भाषण में बताया कि वह ढाई लाख रुपए महीने का कमाता है यह सुनकर संदीप माहेश्वरी दंग रह गए कि केवल 21 साल की उम्र में ढाई लाख रुपए महीना? संदीप के लिए यह बात बहुत आश्चर्यजनक थी उन्होंने सोचा कि जब यह लड़का ढाई लाख रुपए महीने कमा सकता है तो मैं क्यों नहीं? यही वह समय था तब संदीप माहेश्वरी के सबसे प्रचलित डायलॉग(dialogue) ‘आसान है’ का जन्म हुआ। संदीप कंपनी में सफल होने के लिए जी जान से जुट गए पर फिर भी सफलता उनके हाथ नहीं लगी लेकिन इस असफलता से संदीप निराश नहीं हुए क्योंकि यह कार्य उन्होंने अपने दोस्त के कहने पर शुरू किया था।

संदीप कुछ नया करना चाहते थे तभी उनके दिमाग में modeling करने का thought आया। जब संदीप ने मॉडलिंग की शुरुआत की तो उन्हें पता चला कि हर दूसरा आदमी मॉडलिंग करना चाहता है उन्हें मॉडलिंग के क्षेत्र में बहुत competition दिखाई दिया परंतु फिर भी संदीप निराश नहीं हुए। संदीप मॉडलिंग की दुनिया को समझना चाहते थे। उन्होंने देखा कि ज्यादातर modeling agencies fraud थी जो मॉडल्स को बेवकूफ बनाकर उनके पैसे ठगने का काम करती है तभी संदीप के दिमाग में आया कि मुझे मॉडल्स के लिए कुछ करना है पर समझ नहीं आ रहा था कैसे? एक दिन उनका दोस्त किसी मॉडल का पोर्टफोलियो लेकर आया उसकी photos देखकर संदीप बहुत excited हुए। उसी क्षण उन्होंने फैसला किया कि उन्हें फोटोग्राफी सीखनी है South Delhi में सिर्फ दो हफ्तों का कोर्स किया और एक अच्छा कैमरा खरीद लिया लेकिन इस फील्ड में competition बहुत था। संदीप ने तो सिर्फ दो हफ्तों का कोर्स किया था लोग तो दो-दो साल के कोर्स करके बैठे हुए थे। इसके बाद संदीप ने अपने modeling experience का उपयोग कर genuine तथा fraud agencies की लिस्ट निकाली इस लिस्ट से काफी models को फायदा हुआ और उन्हें संदीप का काम पसंद आने लगा। अगले दिन संदीप ने पेपर में एक Ad दिया कि ‘फ्री पोर्टफोलियो बनवाये’

इस काम के लिए संदीप ने केवल प्रोसेसिंग फीस(processing fee) ली थी फिर भी उन्हें 25000 का फायदा हुआ। यह संदीप की अभी तक की सबसे बड़ी कमाई थी और फोटोग्राफी का उनका काम भी कुछ चल पड़ा था और हर महीने 20-30 हजार की कमाई भी हो रही थी परंतु संदीप अपनी सफलता से ज्यादा खुश नहीं थे क्योंकि फोटोग्राफी के फील्ड में उन्हें अपना नाम बनाना था।

संदीप का मानना था कि फोटोग्राफी में सिर्फ काम नहीं बिकता नाम बिकता है और अब उन्हें अपना नाम करना था।

फोटोग्राफी में अपने करियर की शुरुआत के बाद संदीप ने कभी भी यह नहीं सोचा कि अब कोई काम उनके लिए मुश्किल था क्योंकि उनका एक ही नारा था ‘आसान है’।

संदीप माहेश्वरी का लिम्का वर्ल्ड रिकॉर्ड (Limca World Record of Sandeep Maheshwari)

संदीप माहेश्वरी अपने फोटोग्राफी करियर को next level पर ले जाना चाहते थे। इसके लिए वह कुछ नया करना चाहते थे यहीं से उन्हें World Record बनाने का ख्याल आया। अगले दिन संदीप पहुंच गए Limca Book of World Record के ऑफिस अधिकारियों ने उन्हें समझाया कि पहले कोई National Level का रिकॉर्ड बनाओ फिर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाना क्योंकि यह वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाना बहुत मुश्किल था इसके लिए संदीप को 100 मॉडल्स की 10000 photos बारह घंटों के अंदर अलग-अलग पोज(pose) में खींचनीं थी परंतु हमेशा की तरह इस समय भी संदीप का एक ही जवाब था ‘आसान है’। लेकिन यह करना इतना आसान नहीं था और इस काम में बहुत सारे challenges थे पैसों का इंतजाम, models arrangement, अलग-अलग पोज में फोटोज, etc पर संदीप अपने निर्णय पर अडिग थे और सन 2003 में 22 साल की उम्र में यह वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। वर्ल्ड रिकॉर्ड बन जाने के बाद संदीप बहुत famous हो गए थे। अब मॉडल्स और Advertising Agencies सब उनको जानते थे। अब उनकी agency भी Delhi और India Level पर टॉप पर थी। 2-2 ऑफिस खुल चुके थे और कमाई भी अच्छी चल रही थी।

संदीप की कंपनी ImagesBazaar की शुरुआत(Starting of Sandeep Maheshwari’s Company ImagesBazaar)

संदीप ने एक मॉडल के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी और शुरुआत से ही वह मॉडल्स की help करना चाहते थे संदीप अपनी जिंदगी में आई बहुत सारी असफलताओं के बाद अब एक अच्छी position में थे। एक दिन उनके ऑफिस एक Ad Agency वाला आया उसने एक मॉडल की फोटो देखी और बोला हमारे पास शूटिंग का टाइम नहीं है हम इसी फोटो को स्कैन करके हमारी Ad में छाप देंगे। संदीप को यह आईडिया बहुत पसंद आया संदीप और उनके मॉडल्स के लिए यह बहुत ही अच्छा अवसर था। मॉडल को ऐड में आने का मौका भी मिल रहा था और पैसे भी आ रहे थे। संदीप इसके लिए बहुत खुश थे। यहीं से उनकी कंपनी ImagesBazaar की शुरुआत का आईडिया आया। दरअसल उस वक्त Ad Agencies किसी मॉडल का पोर्टफोलियो देख कर उसे select करती थी फिर शूटिंग वगैरह होती थी पर इस बार तो सीधे Portfolio वाली फोटो ही सेलेक्ट कर ली गई थी यानी की शूटिंग का टाइम और पैसा दोनों ही बच गए इसी आइडिया को execute कर सन् 2006 में संदीप ने Indian Photos की सबसे बड़ी कंपनी ImagesBazaar की शुरुआत की। आज हर जगह अखबारों, मैगजीन और बड़े-बड़े hoardings पर ImagesBazaar की फोटोस use की जाती है आज इमेजेस बाजार दस लाख Indian Photos वाली भारत की सबसे बड़ी कंपनी है और संदीप माहेश्वरी इस कंपनी के CEO है।

संदीप माहेश्वरी का वैवाहिक जीवन (Marital life of Sandeep maheshwari)

संदीप ने 11वीं कक्षा में एक नई स्कूल को जॉइन किया था। संदीप को अपने स्कूल के पहले ही दिन नेहा नाम की लड़की से पहली नजर में प्यार हो गया और नेहा को भी संदीप बहुत पसंद था।

एक दिन संदीप ने नेहा को प्रपोज कर दिया और नेहा ने यह प्रपोजल एक्सेप्ट कर लिया था

संदीप को सफलता बहुत सारी असफलताओं के बाद मिली थी संदीप ने अपने प्यार और कैरियर को बहुत ही अच्छे से मैनेज किया था तथा सफल होने के बाद ही नेहा से शादी की। अभी नेहा और संदीप के दो लड़के (two son) और एक लड़की (one daughter) है।

संदीप माहेश्वरी की उपलब्धियां-

  1. उन्हें creative entrepreneur of the Year 2013 का पुरस्कार “Entrepreneur India Summit” के द्वारा 2014 में प्रदान किया गया।
  2. “Business World” पत्रिका ने उन्हें शीर्ष उद्ममी के रूप में चुना गया।
  3. ग्लोबल मार्केटिंग फोरम के द्वारा Star Youth Achiever के रूप में चुना गया।
  4. British High Commission की तरफ से इन्हे युवा उद्यमी का पुरस्कार मिला।
  5. ET Now चैनल के द्वारा शीर्ष उद्यमी का पुरस्कार मिला।
Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back To Top